आखिर स्कूल जाएँ क्यों हम? क्या शिक्षा में है कोई दम?
आखिर स्कूल जाएँ क्यों हम? क्या शिक्षा में है कोई दम?

जब हमने स्कूल की ओर पहला कदम बढ़ाए होंगे, तो हमें यह पक्का पता नहीं रहा होगा कि हम अपने जीवन की सबस...

Read more »

शिक्षा के लोकतन्त्र में अल्पमत परिषदीय शिक्षक सरकार : जिम्मेदारियों के पुनर्गठन बिना बात बनेगी तो कैसे?
शिक्षा के लोकतन्त्र में अल्पमत परिषदीय शिक्षक सरकार : जिम्मेदारियों के पुनर्गठन बिना बात बनेगी तो कैसे?

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी ह...

Read more »

ग्रामीण परिवेश के बच्चों की शतप्रतिशत और नियमित उपस्थिति के लिए नीति नियंता अभिभावकों पर भी कोई  दबावपरक नीति बना सकेंगे?
ग्रामीण परिवेश के बच्चों की शतप्रतिशत और नियमित उपस्थिति के लिए नीति नियंता अभिभावकों पर भी कोई दबावपरक नीति बना सकेंगे?

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी हैं और...

Read more »

शिक्षक बैठकों से बढ़ता आत्मविश्वास : परस्पर संबंध बनाए बगैर कैसे हित कर सकेंगे शिक्षा और शिक्षकों का?
शिक्षक बैठकों से बढ़ता आत्मविश्वास : परस्पर संबंध बनाए बगैर कैसे हित कर सकेंगे शिक्षा और शिक्षकों का?

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी हैं और ल...

Read more »

बच्चों में जिज्ञासा पैदा कर हम उनका सीखना आसान कर सकते हैं और तब हम पायेंगे कि हमारा काम आसान होता जा रहा है
बच्चों में जिज्ञासा पैदा कर हम उनका सीखना आसान कर सकते हैं और तब हम पायेंगे कि हमारा काम आसान होता जा रहा है

शिक्षक का बच्चों के प्रति स्नेह एंव शिक्षण कार्य के प्रति समर्पण प्रत्यक्ष रूप से बच्चों एवं जन समु...

Read more »

भाषा तो भाषा ही रहेगी, क्यों ना इसे इसे बच्चों को बच्चों की भाषा में ही पढाएं?
भाषा तो भाषा ही रहेगी, क्यों ना इसे इसे बच्चों को बच्चों की भाषा में ही पढाएं?

प्राइमरी स्कूलों में पढ़ने वाले ज्यादातर बच्चे अपने घर-परिवार में बोली जाने वाली भाषा बोलते हैं। यह ...

Read more »

क्या वास्तव मे मूल्यांकन सिर्फ़ बच्चों का ही होता है? मूल्यांकन केवल बच्चों का ही नहीं होता वरन बच्चों द्वारा शिक्षकों का भी होता है
क्या वास्तव मे मूल्यांकन सिर्फ़ बच्चों का ही होता है? मूल्यांकन केवल बच्चों का ही नहीं होता वरन बच्चों द्वारा शिक्षकों का भी होता है

यदि आप थोड़ा सा भी सोंचे तो पायेंगे कि मानव किसी न किसी रूप मे अपना मूल्यांकन करता आया है और उस मू...

Read more »

सुविधादायी होने के फेर में कहीं हम शिक्षक साथी भटक तो नहीं रहे अपने कर्तव्य पथ से? आइये एक आत्मावलोकन यात्रा से गुजरें
सुविधादायी होने के फेर में कहीं हम शिक्षक साथी भटक तो नहीं रहे अपने कर्तव्य पथ से? आइये एक आत्मावलोकन यात्रा से गुजरें

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी हैं और ...

Read more »

प्रश्न अभी भी यही है कि,  ... "सोच तो बदली है, क्या परिस्थितियाँ भी बदलेंगी?"
प्रश्न अभी भी यही है कि, ... "सोच तो बदली है, क्या परिस्थितियाँ भी बदलेंगी?"

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी हैं और ल...

Read more »

आखिर कक्षा-कक्ष  से क्यूँ  पलायन करना चाहते हैं शिक्षक? कौन से ऐसे कारण है इस पलायन के?
आखिर कक्षा-कक्ष से क्यूँ पलायन करना चाहते हैं शिक्षक? कौन से ऐसे कारण है इस पलायन के?

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी हैं और ...

Read more »

व्याकरण और शब्दकोष, शुद्ध और अशुद्ध भाषा सब बाद मे, पहले बच्चे को भाषा तो बोलने दें और स्वाभाविक रूप से सीखने का मौका तो दें
व्याकरण और शब्दकोष, शुद्ध और अशुद्ध भाषा सब बाद मे, पहले बच्चे को भाषा तो बोलने दें और स्वाभाविक रूप से सीखने का मौका तो दें

भाषा और बोली एक ही बात है। एक समय जंहा ब्रज साहित्य की भाषा थी, आज उसकी जगह खड़ी बोली ने ले ली है। ...

Read more »

शिक्षा में शान्ति का मनोविज्ञान - भय रहित माहौल केवल बालकों के लिए ही महत्वपूर्ण है या फिर शिक्षकों के लिए भी यह उतना ही जरूरी है?
शिक्षा में शान्ति का मनोविज्ञान - भय रहित माहौल केवल बालकों के लिए ही महत्वपूर्ण है या फिर शिक्षकों के लिए भी यह उतना ही जरूरी है?

प्राइमरी का मास्टर डॉट कॉम के फैलाव के साथ कई ऐसे साथी इस कड़ी में जुड़े जो विचारवान भी हैं औ...

Read more »
 
 
 
Top