अंकों की अनावश्यक होड़
अंकों की अनावश्यक होड़

सीबीएसई और एनसीईआरटी को अनुकरणीय उदाहरण पेश करना चाहिए रा ष्ट्र की सुरक्षा देशवासियों का सर्वोपरि उत्तरदायित्व माना जाता है। इस दायित्व...

Read more »

स्थूल पढ़ाई नहीं, गतिविधि का केंद्र बनें हमारे स्कूल
स्थूल पढ़ाई नहीं, गतिविधि का केंद्र बनें हमारे स्कूल

स्कूली शिक्षक ज्ञान देने या मनोरंजन करने वाले से ज्यादा बच्चों के सहयोगी की भूमिका निभाएं। स रकार में बैठे लोग यह समझ चुके हैं कि दे...

Read more »

क्या स्कूलों से वाकई गायब रहते हैं शिक्षक
क्या स्कूलों से वाकई गायब रहते हैं शिक्षक

शिक्षकों की अनुपस्थिति का एक अध्ययन बताता है कि ढाई फीसदी शिक्षक ही अपनी कक्षा से नदारद रहते हैं। जॉ ली ग्रांट हवाई अड्डे पर उतरकर...

Read more »

निजी विद्यालयों में गुणवत्ता की बढ़ती कीमत
निजी विद्यालयों में गुणवत्ता की बढ़ती कीमत

व र्तमान में औपचारिक विद्यालयी शिक्षा एक अति आवश्यक आवश्यकता बन चुकी है। व्यक्ति और प्रकारांतर से समाज के लिए इसकी महत्ता, उपादेयत...

Read more »

योग शिक्षा क्यों नहीं?
योग शिक्षा क्यों नहीं?

यो ग शब्द की उत्पत्ति के मूल में संस्कृत भाषा का शब्द युज है, जिसका अर्थ है जोड़ना या संगठित करना। इस दृष्टि से योग वह क्रिया है, जो...

Read more »

सभी बच्चों को मिले आजादी का हक
सभी बच्चों को मिले आजादी का हक

तीन करोड़ बच्चे अपना घर-बार छोड़ कर दूसरों की शरण में जाने को अभिशप्त हैं। आ ज हम जिस दुनिया में जी रहे हैं , वहां मानव शरीर के स...

Read more »
 
 
 
Top